रास्ते में भटकना बुरा नहीं है, बुरा है घर से ना निकलना

हर दिन खुद एक जंग लड़नी पड़ती है, फिर चाहे वह रोज नहाने के लिए हो या खुद को आगे ले जाने के लिए. अपनी लड़ाई जिसने लड़ना सीख लिया उसके लिए जिंदगी में काफी कुछ आसान हो जाता है। हर बार लड़ाई लड़कर हम जीतते ही नहीं है कई बार बहुत कुछ सीखते भी […]

Read More रास्ते में भटकना बुरा नहीं है, बुरा है घर से ना निकलना

Happy Independence Day 2020

दुआ करें यह आजादी का जश्न ऐसे ही लगातार चलता रहे.संघर्ष करें कि इस देश के हर नागरिक को सदा इस स्वतंत्रता का स्वाद मिलता रहे.वादा करें कि हम अपनी एकता की डोर और मानवता का संबल लेकर आगे बढ़ते रहेंगे. हिंद की सदा जय हो, हिंदुस्तान का सदा सर ऊंचा रहे.स्वतंत्रता के अनुशासन को […]

Read More Happy Independence Day 2020

Tv debate recipe

पाकिस्तान, हिंदू मुस्लिम, विपक्ष जैसे मुद्दों को सबसे पहले बाजार से चुना जाता है. फिर उसमें थोड़ा कॉन्ट्रोवर्सी की बौछार की जाती है. एक पॉपुलर एंकर के हाथों इसे सजाया जाता है, कुछ अच्छे कंटेंट राइटर से भड़काऊ पंक्तियां और पंच लाइन लिखवाई जाती हैं. इन सब को एडिटिंग के तड़के के साथ थोड़ी देर […]

Read More Tv debate recipe

एक दुख ऐसा भी/ virtual sadness

दुख का कोई निश्चित दायरा नहीं है, आप किसी भी छोटे बड़े कारण पर दुखी हो सकते हैं। आजकल एक नई तरीके का दुख हमें ज्यादा दिखाई दे रहा है। मामला आधुनिकता भरे वर्ल्ड से जुड़ा हुआ है, जिसे सोशल मीडिया भी कहते हैं। एक मित्र ने नया-नया टि्वटर अकाउंट बनाया, लेकिन इस महीने में […]

Read More एक दुख ऐसा भी/ virtual sadness

कोरोना आखिर कब तक

लगभग 5 महीने से स्थिति सामान्य होने की आशा हर दिन कमजोर होती जाती है। अब तो कोरोना के साथ साथ कदमताल करने की नौबत आ गई है। जो नेगेटिव हैं, वह हर दिन बढ़ते आंकड़ों को सिर्फ अपडेट की तरह स्वीकार कर ले रहे हैं। एक दिन में देश के 60,000 से अधिक नागरिक […]

Read More कोरोना आखिर कब तक

मन की भड़ास

मनवा तो पंछी भया, उड़ि के चला आकाश… कबीर दास ने मन को पंछी बनकर उड़ा दो दिया, लेकिन उन्हें पता नहीं था कि यह एक हवा का गुब्बारा बन फूट भी सकता है. मन के भीतर कई बार विचारों की अधिकता हो जाती है. उस समय आकाश में उड़ रहा मन का पंछी अपने […]

Read More मन की भड़ास

बकवास

बातचीत के कई प्रकार होते हैं, अक्सर बातों की एक निरर्थक कड़ी को बकवास का नाम दे दिया जाता है. काम की बात सुनने के बाद अन्य शब्द बकवास की श्रेणी में आते हैं. बकवास करना एक कला है, जिसका सही मतलब सबकी समझ में नहीं आता. वास्तव में असली मजा बातचीत के इसी प्रकार […]

Read More बकवास

कला कलम की

लेखक कागज को मोड़कर, शब्दों को जोड़कर अक्सर एक आकार देने निकल पड़ता है। कलम का हाथ थामे ना जाने किन किन रास्तों से होता हुआ, कहां पहुंच जाता है! शब्दों की एक लंबी कतार सी लग जाती है, उनके बीच आवाज तो नहीं होती लेकिन बहुत कुछ सुनाई दे जाता है। धीरे धीरे इन […]

Read More कला कलम की

Netflix, Dark Series: Time is God

समय का अपना महत्व है और उसके हर एक पल की गिनती लगातार जारी रहती है। भूत, भविष्य और वर्तमान का निर्धारण भी हर दिन होता है। हमारा आज का एक कदम बीते कल से प्रभावित होता है और आने वाले कल को बनाता है। नेटफ्लिक्स पर उपलब्ध एक सीरीज इसी कड़ी को जोड़ने का […]

Read More Netflix, Dark Series: Time is God

चुनाव और कोरोना

जिस कोरोना वायरस के 500 से नीचे आंकड़े निकलने पर सब कुछ बंद करने की रणनीति बनने लगी थी। आज की तारीख में हर दिन लगभग 10000 मामले सामने आ रहे हैं, पर अब चेहरे पर शिकन नहीं है। सही बात है ज्यादा चिंता करना सिर के बाल और सर जी का हाल दोनों खराब […]

Read More चुनाव और कोरोना